;

Syria पर America के नए फैसले से क्यों नाराज़ हैं कई देश?: BBC Duniya with Vidit (BBC Hindi)

0 views
0%

सीरिया पर अमरीका के नए ट्रंप कार्ड से कई देश नाराज़, पॉम्पियो बोले- तुर्की को नहीं दी थी हमले की हरी झंडी. लंदन में पर्यावरण कार्यकर्ताओं का जमावड़ा. साल 2025 तक कार्बन उत्सर्जन शून्य करने के मक़सद से हो रहे हैं प्रदर्शन. महाराष्ट्र के चुनावी अखाड़े में स्मारक बने अहम मुद्दा. शिवाजी, ठाकरे और आंबेडकर की विरासत पर अपने-अपने दावे और कहानी उस कश्मीरी की जिसने भारत में रहकर गाना सीखा और पहुँच गए पाकिस्तान के कोक स्टूडियो. देखिए बीबीसी दुनिया.

ऐसे ही और दिलचस्प वीडियो देखने के लिए चैनल सब्सक्राइब ज़रूर करें-
https://www.youtube.com/channel/UCN7B-QD0Qgn2boVH5Q0pOWg?disable_polymer=true

बीबीसी हिंदी से आप इन सोशल मीडिया चैनल्स पर भी जुड़ सकते हैं-

फ़ेसबुक- https://www.facebook.com/BBCnewsHindi
ट्विटर- https://twitter.com/BBCHindi
इंस्टाग्राम- https://www.instagram.com/bbchindi/

बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=uk.co.bbc.hindi

source

From:
Date: October 16, 2019

21 thoughts on “Syria पर America के नए फैसले से क्यों नाराज़ हैं कई देश?: BBC Duniya with Vidit (BBC Hindi)

  1. प्रथम विश्वयुद्ध – अमेरिका ने इटली को धोखा दिया
    द्वितीय विश्वयुद्ध – अमेरिका ने रूस को धोखा दिया
    अफगान युद्ध – अमेरिका ने सरकार के खिलाफ हक्कानी नेटवर्क पैदा किया
    1971 भारत पाक युद्ध – अमेरिका ने पाकिस्तान को अधर में छोड़ा

    शायद धोखा देकर ही मुल्क संवर पाते हैं।
    मगर कब तक….

  2. Are bhai jab koye apani sampati ka divala nikalega to dusaman bhi doshki sakalme labh lane ayega are bhai lakhka mal barahajar. Me milata to kon labh naji lega . Murakh esame khush honeki bat midiyabikaoou godi batatahe ghar bechake aesskaro . Modike pichhe kon he voto baziya he vo kiya sochega bhai deshke udiyogpatio ko lootka mal leke videsh bhej diya ab videshiko ddeshme ghusatahe naamard apani oratko . Estarah esatarh bhadepe lagakar kamaye dhudhata he a kam bhdane kiya karate he samazatanahi budhdhiko fer mufatme bhi koye hath nahi lahata

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *